क्या है पीपीफ ?

पीएफ यानी Public Provident Fund; भारत सरकार की ओर से अपने citizens को उपलब्ध कराई गई ऐसी बचत योजना है जो ट्रिपल ई श्रेणी ( E-E-E : Exempt-Exempt-Exempt) में रखी जाती है। यानी कि इसमें deposit किए गए पैसे पर शुरुआत से लेकर अंत तक, आपको कहीं भी, कभी भी कोई tax अदा नहीं करना होगा।

PPF से जुड़ी सबसे अच्छी बात यह है कि इसे देश का कोई भी नागरिक खुलवा सकता है। चाहे आप serviceman हों, businessman हो या किसान, इसमें अपना account खोल सकते हैं। यहां तक​ कि इसमें age limit का भी कोई बंधन नहीं है। ​आप अपने बच्चे या अल्पवयस्क परिचित के लिए भी PPF Account खुलवा सकते हैं। लेकिन, यह ध्यान रखें कि आप अपने नाम सिर्फ एक PPF Account ही खुलवा सकते हैं। पहले से आपके नाम कोई PPF Account होने पर आप न तो अपने नाम और न ही किसी के साथ joint account खोल सकते हैं।

न्यूनतम और अधिकतम निवेश

आप पीपीएफ में minimum 500 रुपए या maximum डेढ लाख रुपए, एक​ वित्तीय वर्ष के दौरान, invest कर सकते हैं। अगर पीपीएफ किसी child या अल्पवयस्क नागरिक के नाम पर open किया जा रहा है, तो भी उस अल्पवयस्क व्यक्ति और उसके guardian के joint account में डेढ लाख रुपए से अधिक निवेश नहीं किया जा सकता। आप अपने PPF Account में साल भर में ज्यादा से ज्यादा 12 बार ही पैसा deposit कर सकते हैं। आप एक महीने में दो बार भी पीपीएफ एकाउंट में deposit कर सकते हैं

पीपीएफ अकाउंट की अवधि: लॉक इन पीरियड

PPF Account 15 वर्ष के लिए होता है। यानी आपको लगातार 15 वर्ष तक इसमें हर महीने पैसे deposit करने होते हैं। इस period के दौरान सामान्य स्थितियों में आप पैसा नहीं निकाल सकते । हां, जमा रा​शि के आधार पर loan जरूर ले सकते हैं। Account holder की मौत होने पर या कुछ विशेष स्थितियों में यह पैसा withdraw किया जा सकता है, जिसका detail हम आगे देंगे।

15 वर्ष पूरे होने के बाद आप अपने PPF Account को अगले 5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं। उसके बाद फिर अगले पांच साल के लिए खाते को आगे बढ़ सकते हैं। ये सिलसिला पूरी उम्र चल सकता है। इस बढ़ी हुई अवधि के दौरान भी investment, tax exemptions and rate of interest आदि के rules पहले की तरह लागू रहेंगे।

Maturiy के बाद एक साल की अवधि पूरी होने के पहले ही Form H भरने पर आपको खाते की अवधि पांच साल की बढ़ाने की सुविधा मिल सकती है। इसके आगे भी आप अवधि बढ़वाना चाहें तो हर पांच साल बाद Form H भरना होगा।

कहां खुलवाया जा सकता है पीपीएफ एकाउंट?

  • कुछ Nationalised Banks की चुनिंदा शाखाओं में भी PPF Account खोलने की सुविधा उपलब्ध होती है चुनिंदा Post Office में भी PPF Account खोले जा सकते हैं
  • आप PPF Account SBI में खुलवा सकते हैं। इसके सहयोगी बैंकों में भी सुविधा है।

पीपीएफ खाते पर रिटर्न

फिलहाल PPF पर सरकार 8 फीसदी ब्याज दे रही है।आप अपने PPF में जमा धनराशि के आधार पर bank या वित्तीय संस्थान से loan ले सकते हैं। ये आपको PPF पर मिल रहे ब्याज से सिर्फ 2% ज्यादा होगा। ऐसा करने पर आप अपने Personal Loan पर 10 फीसदी ब्याज अदा करते हैं। जो किसी भी Bank या ​लोन देने देने वाले अन्य संस्थान के 14 से 24 % ब्याज के मुकाबले बहुत कम है।

Leave a Comment

x